मोदी जी, आप  केवल BJP नेताओं से ‘बेटियों’ को बचा लो, हम फिर सोने की चिड़िया बन जायेंगे : जीतू पटवारी
Running news

मोदी जी, आप केवल BJP नेताओं से ‘बेटियों’ को बचा लो, हम फिर सोने की चिड़िया बन जायेंगे : जीतू पटवारी

‘बहुत हुआ नारी पर वार, अबकी बार मोदी सरकार’ का नारा देने वाले नरेंद्र मोदी की पार्टी के नेता महिलाओं साथ अपराध करने के लिए कुख्यात है।

पिछले कुछ सालों में बीजेपी को सिर्फ दंगाई ही नहीं बलात्कारी भी कहा जाने लगा है। सोशल मीडिया पर BJP को 'बलात्कारी जनता पार्टी' लिखा जाने लगा है। बीजेपी को मिले इस उपनाम के दो प्रमुख कारण हो सकते हैं:

1. बीजेपी नेताओं पर लगे बलात्कार के आरोप

2. बीजेपी नेताओं द्वारा बलात्कारियों का समर्थन

साल 2018 का आठवा महीना चल रहा है। इन आठ महीनों में ही बीजेपी के कई नेताओं पर बलात्कार के आरोप लगे हैं। यूपी के बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का मामला सबसे ज्यादा चर्चा में रहा।

अब एक और बीजेपी नेता पर बलात्कार का आरोप लगा है। असम के नगांव जिले की 24 वर्षीय महिला ने रेल राज्यमंत्री राजेन गोहेन पर बलात्कार करने का आरोप लगाया है। नगांव की पुलिस उपाधीक्षक सबिता दास ने शिकायत मिलने के बाद दो अगस्त को गोहेन के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

सबिता दास ने मीडिया से बताया कि, 'निम्न धाराओं 417 (धोखाधड़ी), 376 (बलात्कार) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। हम जांच कर रहे हैं और महिला का बयान दर्ज किया जा चुका है।'

कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने बीजेपी नेताओं को भक्षक बताते हुए ट्वीट किया है कि 'केंद्रीय रेल राज्‍य मंत्री पर 24 साल की महिला से रेप का आरोप, केस दर्ज ! जिन पर रक्षा की जवाबदारी थी, वो भक्षक बन गये।

पहले कीचड़ फैलायेंगे,

फिर कमल खिलायेंगे..?

मोदी जी,

आप तो केवल भाजपा नेताओं से बेटियों को बचा लो, हम फिर सोने की चिड़िया बन जायेंगे।'

सवाल उठता है कि क्या बीजेपी में अचानक से इतने बलात्कार आरोपी और बलात्कारी समर्थक आ गए? इसका जवाब है नहीं। ‘बहुत हुआ नारी पर वार, अबकी बार मोदी सरकार’ का नारा देने वाले नरेंद्र मोदी की पार्टी के नेता महिलाओं साथ अपराध करने के लिए कुख्यात है।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने 2017 में एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी। ये रिपोर्ट महिलाओं के ऊपर अत्याचार से संबंधित मामलें घोषित करने वाले सांसद/विधायकों के शपथपत्रों का विश्लेषण था। इस रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा महिलाओं के ऊपर अत्याचार करने के मामले बीजेपी नेताओं पर दर्ज हैं।

कुल 1581 (33 प्रतिशत) सांसद/विधायकों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये हैं। इनमे से 51 ने अपने ऊपर महिलओं के ऊपर उत्याचार से संबंधित मामले घोषित किये हैं। इन 51 में 3 सांसद और 48 विधायक शामिल हैं। मुख्य दलों में महिलाओं के ऊपर अत्याचार से संबंधित मामले घोषित करने वाले सांसद/विधायकों की संख्या- भाजपा के 14, शिवसेना के 7, टीएमसी- 6

मोदी जी, आप  केवल BJP नेताओं से ‘बेटियों’ को बचा लो, हम फिर सोने की चिड़िया बन जायेंगे : जीतू पटवारी
adrindia.org

पिछले पांच वर्षों के चुनाव में मुख्य दलों में महिलाओं के ऊपर अत्याचार से संबंधित मामले घोषित करने वाले उम्मीदवारों की संख्या- भाजपा के 48, बसपा के 36, कांग्रेस के 27 (लोकसभा/राज्यसभा और विधानसभाओं को मिलाकर)

मोदी जी, आप  केवल BJP नेताओं से ‘बेटियों’ को बचा लो, हम फिर सोने की चिड़िया बन जायेंगे : जीतू पटवारी
adrindia.org

ध्यान देने वाली बात ये है कि ये वो मामले हैं जो दर्ज किए गए हैं। ना जाने कई ऐसे मामले होते हैं जो कभी दर्ज ही नहीं होते या होने नहीं दिए जाते।