पुणे जातीय हिंसा के बाद महाराष्ट्र बंद, कई जगह हिंसा की घटनाएँ सामने आईं
Running news

पुणे जातीय हिंसा के बाद महाराष्ट्र बंद, कई जगह हिंसा की घटनाएँ सामने आईं

एक जनवरी को पुणे के पास स्थित भीमा-कोरेगांव में भड़की जातीय हिंसा के चलते आज पूरे महाराष्ट्र में बंद का ऐलान कर दिया गया है। दलित समुदायों ने मंगलवार को राज्य बंद का ऐलान किया है। महाराष्ट्र बंद का भारी असर देखने को मिला है। आज सुबह से ही महाराष्ट्र में यातायात सेवा और लोगों की चहल पहल सब बंद है। आज पूरे महाराष्ट्र में लोकल ट्रेन से लेकर स्कूल और हाइवे तक सब बंद रहेंगें।

मुंबई पुणे हाईवे बंद होने की वजह से आज लगभाग 40 हज़ार बसें नहीं चलेंगी। सुबह सात बजे से ही बंद का का ऐलान किया गया। वही बहुजन समाज पार्टी ने इस मामले को लेकर राज्यसभा में चर्चा करने की मांग की।

महाराष्ट्र में इस वक़्त कई इलाकों में पुलिस तैनात है, खबरों के मुताबिक अगर ज़रुरत पड़ी तो और अधिक पुलिस बल भेजे जा सकते हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र के कई इलाकों में आज इन्टरनेट सेवा भी बंद की जा चुकी है, ताकि हिंसा की खबर लोगों तक ना पहुंचे।

वही ठाणे में भी बंद का असर देखने को मिला है, वहाँ 4 जनवरी तक धारा 144 लगाई गई है। ठाणे रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोक कर हंगामा किया। मुंबई के वर्ली में दो बसे तोड़ दी गई है। वही आज डब्बावालों ने भी सुरक्षा को धयान में रखते हुए अपनी सेवा बंद कर दी है, जिससे हज़ारों लोगों तक आज खाना नहीं पहुंचेगा।

बता दें, कि ये हिंसा तब भड़की थी जब महार जाती के लोग, पेशवा फौज पर अपनी जीत की 200वीं सालगिरह मनाने युद्ध स्मारक पर जा रहे थे और उसी बीच कुछ कट्टर हिंदूवादी संगठनों से जुड़े लोगों ने उनपर हमला कर दिया।