शर्मनाक: दलित बच्चों को तबेले में बिठाकर जबरदस्ती दिखाया PM मोदी का कार्यक्रम ‘परीक्षा पर चर्चा’
Running news

शर्मनाक: दलित बच्चों को तबेले में बिठाकर जबरदस्ती दिखाया PM मोदी का कार्यक्रम ‘परीक्षा पर चर्चा’

हिमाचल प्रदेश में स्कूली छात्रों के साथ जातिगत भेदभाव का मामला सामने आया है।

जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम के दौरान दलित छात्रों को अलग से तबेले में बिठाकर स्क्रीनिंग की गई। साथ ही टीचर ने स्कूली बच्चों को धमकी दी थी कि अगर वो वहां पर बैठ कर इस कार्यक्रम को नहीं देखेंगे तो असाइनमेंट के मार्क्स नहीं दिए जाएंगे।

कुल्लू स्थिति स्कूल में पीएम मोदी के कार्यक्रम की स्क्रीनिंग की व्यवस्था ग्राम पंचायत ने की थी ।

स्कूल मैनेजमेंट कमेटी के मुखिया के यहां TV के जरिए स्क्रीनिंग की गई थी।

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, कुल्लू के डिप्टी कमिश्नर के पास आई शिकायत में इस बात का जिक्र है कि जिस तबेले में घोड़े और गाय भैंस रखे जाते हैं वहां पर बिठाकर बच्चों को पीएम के ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम देखने के लिए मजबूर किया गया। साथ ही धमकी दी गई थी कि वह उस जगह को छोड़कर जा नहीं सकते हैं नहीं तो उनके मार्क्स का नुकसान होगा।

स्कूली बच्चों ने एक नोटबुक पर शिकायत लिखते हुए इस बात का भी जिक्र किया कि ‘मिड डे मील’ के दौरान भी उनके साथ जातिगत भेदभाव होता है।

अनुसूचित जाति से संबंध रखने वाले इन बच्चों को अलग से बैठने को मजबूर किया जाता है। यहां तक कि इन सब जातिवादी प्रथाओं को रोकने के लिए वहां का हेड मास्टर कुछ भी नहीं करता है।

खबर के मुताबिक, हेड मास्टर से बात करने पर उसने ना सिर्फ इस बात को स्वीकार किया बल्कि माफी मांगते हुए कहा कि आगे से यह गलती नहीं दोहराएगा।

इस मामले को लेकर वहां के स्थानीय संगठन अनुसूचित जाति कल्याण संघ ने विरोध प्रदर्शन भी किया।

फोटो साभार- Times Xpress

खबर साभार- इंडियन एक्सप्रेस