गला दबाकर, लात मारकर और लाठियां भांजकर कौन-सा महिला सम्मान कर रही है योगी की पुलिस ?
BH News

गला दबाकर, लात मारकर और लाठियां भांजकर कौन-सा महिला सम्मान कर रही है योगी की पुलिस ?

योगी की पुलिस कभी बीएचयू में छात्राओं पर लाठियां बरसाती हैं तो कभी अपने हक की मांग करती आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर। यानी अब योगी राज में अपने हक के लिए मांग करना भी अपराध हो गया है।

महिलाओं को लेकर बेहद ही संवेदनहीन यूपी पुलिस लाठी डंडे के बल पर सबको चुप कराना चाहती है।

दो दिन पहले जब लखनऊ में हजारों आंगनबाड़ी कार्यकर्ता इकट्ठा होकर योगी सरकार से अपने हक की मांग करने लगीं तब यूपी पुलिस ने उनके बाल पकड़कर खींचे, बीच रोड पर पटक दिया, लात घूंसे बरसाए और उसके बाद लाठियों से ताबड़तोड़ हमले करना शुरू कर दिया ।

तमाम तस्वीरों से पता चलता है कि महिलाओं को नियंत्रित करने के लिए महिला बल ही नहीं बल्कि पुरुष बल भी इस्तेमाल किया -जिन्होंने बड़ी बेरहमी से आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की पिटाई की ।

इससे नाराज होते हुए तमाम लोग सोशल मीडिया पर लिख रहे हैं ।

योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए सपा प्रवक्ता पंखुरी पाठक लिखती हैं -आज फिर महिला सम्मान में बाबाजी की पुलिस ने महिलाओं पर जम कर लाठी बरसाई. ये मेहनती आंगनवाड़ी कर्मचारी हैं जो अपने हक़ की माँग कर रही हैं.

आम आदमी पार्टी के स्टेट जॉइंट सेक्रेटरी विपिन राठौर लिखते हैं-

यूपी पुलिस का एक सिपाही आंदोलनकारी महिला का गला दबा रहा है और बाल खींच रहा है इस पर महिला आयोग और मानवाधिकार आयोग चुप क्यों है

एक अन्य ट्वीट करते हुए वह लिखते हैं योगी की पुलिस ने महिला के बाल नोंचे, गला दबाया और जूते से ठोकर मारी, यह कैसा महिला सम्मान है?