केजरीवाल ने कहा था- मजीठिया को 15 मार्च 2017 को जेल भेजूंगा, मगर 15 मार्च 2018 को माफ़ी मांग ली
BH News

केजरीवाल ने कहा था- मजीठिया को 15 मार्च 2017 को जेल भेजूंगा, मगर 15 मार्च 2018 को माफ़ी मांग ली

15 मार्च 2018 को अरविंद केजरीवाल ने अकाली के नेता बिक्रम मजीठिया से लिखित माफी मांगी। अरविंद केजरीवाल के माफीनामे से आम आदमी पार्टी में उथल पुथल मच चुका है।

केजरीवाल ने बिक्रम मजीठिया को लिखे पत्र में कहा,”अब जब मुझे पता चल गया कि आरोप निराधार हैं… मैं आपके खिलाफ दिए गए सभी बयानों और आरोपों के लिए क्षमा मांगते हुए उन्‍हें वापस लेता हूं।”

केजरीवाल ने कहा था- मजीठिया को 15 मार्च 2017 को जेल भेजूंगा, मगर 15 मार्च 2018 को माफ़ी मांग ली

जबकी पंजाब विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान अरविंद केजरीवाल ने कई बार बिक्रम मजीठिया पर अवैध ड्रग्‍स के धंधे में शामिल होने का आरोप लगाया था। केजरीवाल ने प्रकाश सिंह बादल सरकार पर भी ड्रग माफिया और अपराधियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया था।

केजरीवाल ने पंजाब विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान एक जनसभा में कहा था कि वो चुनाव जीतने के चार दिन बाद 15 मार्च 2017 को मजीठिया को जेल भेज देंगे। 2 मार्च, 2017 को लुधियाना में अरविंद केजरीवाल ने एक बड़ी जनसभा की थी। इस जनसभा को संबोधित करते हुए केजरीवल ने कहा था कि पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के चार दिन बाद ही बिक्रम मजीठिया को जेल में डाल देंगे।

पंजाब विधानसभा चुनाव के परिणाम 11 मार्च 2017 को आया था। यानी केजरीवाल को लगा था कि वो पंजाब जीत जाएंगे और इसके चार दिन बाद 15 मार्च को मजीठिया को जेल भेज देंगे लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

लेकिन इसका एक विपरीत एक संयोग जरूर हुआ। 15 मार्च 2017 को मजीठिया जेल तो नहीं गए लेकिन ठीक एक साल बाद 15 मार्च 2018 को केजरीवाल ने उनसे माफी जरूर मांग ली।

केजरीवाल ने कहा था- मजीठिया को 15 मार्च 2017 को जेल भेजूंगा, मगर 15 मार्च 2018 को माफ़ी मांग ली

केजरीवाल का माफीनामा जैसे ही सामने आया पंजाब इकाई के अध्यक्ष भगवंत सिंह मान ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। मान ने ट्वीट कर कहा ”मैं आप की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं, लेकिन पंजाब में ड्रग माफिया और अन्य प्रकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ पंजाब के ‘आम आदमी’ की तरह मेरी लड़ाई जारी रहेगी।”

पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने भी इस मामले में केजरीवाल के साथ नहीं खड़े हैं। उन्होंने केजरीवाल के रुख पर सीधी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा ”मुझे नहीं मालूम कि केजरीवाल ने क्यों माफी मांगी। मैं मजीठिया के बारे में दिये गये अपने कल के बयान पर कायम हूं” संजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि‘‘एसटीएफ की रिपोर्ट में हुए ख़ुलासे के आधार पर मजीठिया की तत्काल गिरफ़्तारी होनी चाहिये।’’

केजरीवाल ने कहा था- मजीठिया को 15 मार्च 2017 को जेल भेजूंगा, मगर 15 मार्च 2018 को माफ़ी मांग ली

अरविंद केजरीवाल के समर्थकों का कहना है कि अदालत के चक्कर काटने की वजह से केजरीवाल गवर्नेंस पर पूरा फोकस नहीं पा रहे थें। केजरीवाल को अदालत की तारीखों से फुरसत ही नहीं मिलती थी कि वो उन कामों को कर सके जिसके लिए जनता ने उन्हें चुना है। इसके साथ ही एक फोटो भी शेयर की जा रही है जिसमें केजरीवाल के अदालत में पेश होने की तारीख लिखी हुई है।

आम आदमी पार्टी के विकास योगी लिखते हैं – ये अगले कुछ दिनों में लंबित मुकदमों की लिस्ट है। अब या तो अदालत में ही खड़े रहें या काम कर लें।