भाजपा के ‘विजय दिवस’ पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा- केरल, दिल्ली, पंजाब हारने का दिवस कब मनाओगे?
BH News

भाजपा के ‘विजय दिवस’ पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, कहा- केरल, दिल्ली, पंजाब हारने का दिवस कब मनाओगे?

पूर्वोत्तर के तीन राज्यों त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड के चुनावी नतीजों आ चुके हैं। त्रिपुरा में बीजेपी और IPFT ने 59 में से 43 सीटों पर जीत दर्ज की है। बीजेपी ने 51 सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से 35 जीत गई है।

CPM सिर्फ 16 सीट जीत पायी है। यानी बीजेपी ने त्रिपुरा में लेफ्ट का किला बूरी तरह ढ़ाह दिया है। अगर 1988 से 1993 के बीच के पांच साल छोड़ दें तो त्रिपुरा में 1977 से वामपंथी सरकार थी।

वही नागालैंड में बीजेपी को सहयोगी पार्टियों के साथ 29 सीटें हासिल हुई हैं। यहां सरकार किसकी बनेगी ये तय नहीं हुआ है। मेघालय की 59 में से बीजेपी मात्र दो सीट जीत पायी है। कांग्रेस ने 21 सीटों पर जीत दर्ज की है। यहां बीजेपी की सरकार बनती नजर नहीं आ रही है।

यानी तीन राज्यों में से बीजेपी सिर्फ एक राज्य में स्पष्ट बहुमत के साथ सरकार बनाती नजर आ रही है। फिर भी बीजेपी विजय दिवस मना रही है।

कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने ट्वीट कर भाजपा के विजय दिवस पर तंज कसा है। जीतू ने लिखा है कि ‘आज भाजपा विजय दिवस मना रही है! किस बात का विजय दिवस..?

नागालैंड, मेघालय, केरल, पश्चिम-बंगाल, दिल्ली, पंजाब और बिहार हारने का विजय दिवस..? या गोवा, मणिपुर, बिहार व उत्तराखंड में लोकतंत्र का अपहरण करने की कामयाबी का विजय दिवस..? वैसे, जय शाह और जस्टिस लोया दिवस कब मनाओगे..?’