राजीव मल्होत्रा ने की केरल के हिंदुओं की मदद की अपील, पत्रकार बोलीं- यहां धर्म न तलाशें,  नफ़रत कहीं और फैलाएं 
BH News

राजीव मल्होत्रा ने की केरल के हिंदुओं की मदद की अपील, पत्रकार बोलीं- यहां धर्म न तलाशें, नफ़रत कहीं और फैलाएं 

पत्रकार ने ट्वीट कर लिखा, “केरल का सबसे बड़ा पर्व ओणम है, जिसे हिंदू, ईसाई और मुसलमान सब साथ मिलकर मनाते हैं। वे इस पर्व को इसलिए मनाते हैं क्योंकि वो केरल के रहने वाले हैं।

केरल में बाढ़ और बारिश का कहर जारी है। ज़ोरदार बारिश से अब तक 324 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है। बारिश की वजह से राज्य में अबतक 8000 करोड़ से ज़्यादा का नुकसान हो चुका है। राहत कार्य के लिए सेना, नौसेना, वायुसेना, इंडियन कोस्टगार्ड और NDRF के जवान लगे हुए हैं।

केरल के इस मुश्किल वक्त में दुनियाभर के लोग साथ खड़े हैं। बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए कई देशों में फंड रेज़ कर पीड़ितों तक पहुंचाया जा रहा है। बाढ़ पीड़ितों की मदद करने वाले देशों की फेहरिस्त में एक नाम यूएई का भी है। जिसने बिना किसी भेदभाव के केरल के लोगों की मदद करने का ऐलान किया है।

वहीं कुछ लोग इस मुश्किल घड़ी में भी पीड़ितों का धर्म तलाशने में जुटे हैं और लोगों से सिर्फ़ हिंदुओं की मदद करने की अपील कर रहे हैं।

भारतीय मूल के अमेरिकी लेखक राजीव मल्होत्रा ने ट्विटर के ज़रिए लोगों से केरल के हिंदुओं की मदद करने की अपील की है। उन्होंने लिखा, “केरल के हिंदुओं की मदद के लिए कृप्या दान करें। ईसाई और मुसलमान दुनियाभर से पैसे इकठ्ठा कर ख़ासतौर पर अपने लोगों और एजेंडा की मदद कर रहे हैं”।

उन्होंने केरल के हिंदुओं की मदद के लिए ‘सेवा इंटरनेशनल’ नाम की संस्था का लिंक भी शेयर किया है, जिसपर दान की राशि जमा की जा सकती है।

राजीव मल्होत्रा द्वारा धार्मिक आधार पर की गई इस अपील का पत्रकार फेय डिसूजा ने करारा जवाब दिया है। उन्होंने आपसी भाईचारे का प्रतीक माने जाने वाले केरल के एक पर्व का ज़िक्र करते हुए कहा कि अपनी नफ़रत कहीं और फैलाएं।

पत्रकार ने ट्वीट कर लिखा, “केरल का सबसे बड़ा पर्व ओणम है, जिसे हिंदू, ईसाई और मुसलमान सब साथ मिलकर मनाते हैं। वे इस पर्व को इसलिए मनाते हैं क्योंकि वो केरल के रहने वाले हैं। जो इनमें समान है, वो भिन्नता से बड़ी है! इसलिए कृप्या अपनी नफ़रत कहीं और ले जाइये”।