गुजरात: चुनाव के दौरान वोटर्स को घूस देने के जुर्म में BJP विधायक को कोर्ट ने भेजा जेल
BH News

गुजरात: चुनाव के दौरान वोटर्स को घूस देने के जुर्म में BJP विधायक को कोर्ट ने भेजा जेल

गुजरात में चुनाव पचार के दौरान वोटर्स को घूस देने का एक पुराना मामला सामने आया है। मामले में आरोपी भाजपा की वरिष्ट नेता और विधायक नींबेन आचार्य हैं।

आरोपी विधायक नींबेन आचार्य सहित दो अन्य लोगों को सोमवार को 2009 लोकसभा चुनाव में आचार संहिता का उल्लंघन करने के मामले में एक साल की सजा सुनाई गई है। नींबेन आचार्य गुजरात की नवनियुक्त प्रोटेम स्पीकर हैं।

गुजरात के मोरबी मजिस्ट्रेट कोर्ट ने विधायक नींबेन आचार्य सहित दो अन्य आरोपी को सजा सुनाते हुए 30 दिनों के अंदर अपना पक्ष रखने को कहा है। 2009 के लोकसभा चुनाव में तीनो आरोपी सौराष्ट्र के मोरबी संसदीय क्षेत्र में चुनाव प्रचार कर रहें थें। जहां इनपर मतदाताओं को रिश्वत देने की कोशिश का दोषी पाया गया है।

मोरबी मजिस्ट्रेट कोर्ट ने तीनो आरोपी नींबेन आचार्य, पूर्व भाजपा विधायक कांति अमरुतिया और मनोज पानारा को एक साल की जेल और दो-दो हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

बता दें, कि ये मामला चुनाव आयोग ने दर्ज कराया था। चुनाव आयोग को सूचना मिली थी कि अमरुतिया और आचार्य ने बीजेपी के कार्यकर्ताओं से निश्चित वोट दिलाने में सफल रहने पर गिफ्ट देने का वादा किया गया था। मामला सामने आने पर मोरबी के कलेक्टर और कच्छ लोकसभा सीट के सहायक रिटर्निंग ऑफिसर एजे पटेल ने 25 मार्च 2009 को शिकायत दर्ज कराया था।

इस मामले पर सुनवाई करते हुए मजिस्ट्रेट की अदालत ने नींबेन आचार्य, कांति अमरुतिया और मनोज पनारा को आईपीसी की धारा 171(B) यानि वोटर्स को लालच देना और धारा 144 के तहत दोषी करार दिया है।