PM मोदी को विदेश में भी सताने लगा खाली कुर्सियों का डर, ओमान में भारतीय दूतावास ने जुटाई भीड़
BH firstpost

PM मोदी को विदेश में भी सताने लगा खाली कुर्सियों का डर, ओमान में भारतीय दूतावास ने जुटाई भीड़

प्रधानमंत्री मोदी जितना देश में करी गई रैलियों और भाषणों के लिए मशहूर हैं। उतने ही मशहूर वो अपने विदेशों के आयोजनों के लिए भी हैं। 2014 में, प्रधानमंत्री मोदी अपने विदेशी आयोजनों में भीड़ और मोदी-मोदी के नारों को लेकर ख़बरों में छाय रहे। ये कहा जाने लगा कि बहुत समय बाद भारत में ऐसा प्रधानमंत्री आया है जिसको सुनने के लिए विदेशों में भी लोग जमा होते हैं।

लेकिन इन आयोजनों की हकीकत धीरे-धीरे सामने आने लगी और ये साबित हो गया कि इस सब की स्क्रिप्ट भारत सरकार ही लिखती है। इन आयोजनों में जनता को जमा करने से लेकर उनसे नारे लगवाने की सारी तैय्यारी करी जाती है।

इस समय पीएम मोदी तीन देशों की यात्रा पर गए हुए हैं। फिलिस्तीन, संयुक्त अमीरात और ओमान। ऑल्ट न्यूज़ के मुताबिक, ओमान में भी ऐसा ही एक आयोजन हो रहा है और उसकी स्क्रिप्ट भी भारत सरकार ने ही लिखी है।

ये आयोजन सुलतान क़बूस कॉम्प्लेक्स में हो रहा है। इसके लिए इंडियन एम्बेसी ने ओमान में सभी बड़ी कंपनियों को पत्र लिखकर अपील की है कि वों भारतीय कर्मचारियों को इस आयोजन के लिए भेजे। इसके लिए उन्हें बस मुहैय्या कराने के लिए भी कहा गया है।

PM मोदी को विदेश में भी सताने लगा खाली कुर्सियों का डर, ओमान में भारतीय दूतावास ने जुटाई भीड़

ये तब किया जा रहा है जब ओमान की 20% आबादी ही भारतीय है। साथ ही एम्बेसी ने इस आयोजन के लिए अपनी वेबसाइट पर भी जानकारी दी हुई है। लगता है इंडियन एम्बेसी को यकीन नहीं है कि पीएम मोदी को सुनने के लिए वहां लोग आएँगे।

तस्वीर साभार- भारतीय मंत्रालय