एकता कपूर के लिए स्मृति ईरानी ने ‘दूरदर्शन’ को पहुँचाया करोड़ो का नुकसान, पहले से ही घाटे में है टीवी चैनल
BH firstpost

एकता कपूर के लिए स्मृति ईरानी ने ‘दूरदर्शन’ को पहुँचाया करोड़ो का नुकसान, पहले से ही घाटे में है टीवी चैनल

सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी लगातार विवादों में घिरी हुई हैं। ‘द प्रिंट’ की खबर के अनुसार ईरानी ने अपनी पुरानी करीबी और मशहूर प्रोडक्शन हाउस बालाजी टेलेफिल्म्स की मालिक एकता कपूर को फायदा पहुँचाने के लिए दूरदर्शन का नुकसान कर दिया है। वर्ष 2000 से 2008 तक स्मृति ईरानी ने बालाजी टेलेफिल्म्स के लिए काम किया था।

बता दें, कि हाल ही में ईरानी पर अपने एक करीबी के प्रोडक्शन हाउस को फायदा पहुँचाने और उसके लिए प्रसार भारती के अधिकारीयों का वेतन रोकने का आरोप भी लगा था।

खबर के अनुसार, ‘बालाजी टेलेफिल्म्स’ और एक अन्य प्रोडक्शन हाउस ‘साईबाबा टेलेफिल्म्स’ ने दूरदर्शन में रात के समय धारावाहिक दिखाने के लिए स्लॉट ख़रीदे थे। उनको रात 7 से 11 तक का समय दिया गया था।

समझौता यह था कि अगर प्रोडक्शन हाउस तय समय पर धारावाहिक बनाने में कामयाब नहीं रहता है तो उसे 1 करोड़ 5 लाख का जुर्माना देना होगा। साथ ही दूरदर्शन के पास उसकी जमा बैंक गेरेंटी 87.5 लाख भी उसे नहीं लौटाई जाएगी।

इन धारावाहिकों से जो कमाई होती उसका बटवारा प्रोडक्शन हाउस और दूरदर्शन के बीच होना था। एक आकलन के मुताबिक, आने वाले तीन सालों में दूरदर्शन 60 करोड़ रुपये की कमाई करता। दूरदर्शन के लिए ये फायदे का सौदा था क्योंकि पिछले तीन सालों से वो 38.25 करोड़ के घाटे में चल रहा है।

लेकिन धारावाहिक के एयर होने यानि चैनेल पर उसके प्रसारण से कुछ घंटे पहले ही आईबी मंत्री स्मृति ईरानी ने इस सौदे को रद्द कर दिया। गौरतलब है कि, सौदा रद्द करने से एक दिन पहले बालाजी टेलेफिल्म्स ने ईमेल भेजकर बताया था कि वो धारावाहिक नहीं तैयार कर पाया है और उसे थोड़े और समय की ज़रूरत है।

इस फैसले के बाद अब बालाजी टेलेफिल्म्स को जुर्माना नहीं देना होगा न ही उसकी बैंक गेरेंटी ज़ब्त होगी। स्मृति ईरानी का कहना है कि उन्होंने ऐसा करके दूरदर्शन को बचाया है। उनके मुताबिक, दूरदर्शन को 38 करोड़ से ज़्यादा का नुकसान हो सकता था।

वहीं साईबाबा टेलेफिल्म्स इस फैसले से खुश नहीं है। बालाजी टेलेफिल्म्स तय समय पर धारावाहिक नहीं तैयार कर पाया था लेकिन साईबाबा टेलेफिल्म्स ने धारावाहिक तैयार कर लिया था और वो प्रसारण के लिए भी तैयार था। साईबाबा टेलेफिल्म्स का कहना है कि मंत्रालय के इस फैसले से उसे 26 करोड़ का नुकसान हुआ है। उसने इस मामले में दूरदर्शन को एक लीगल नोटिस भेजा है।